Budh Purnima 2023 Kab है और जाने बुध पूर्णिमा का महत्त्व

Budh Purnima 2023 Kab है और जाने बुध पूर्णिमा का महत्त्व

बुद्ध पूर्णिमा, जिसे वेसाक या बुद्ध जयंती के रूप में भी जाना जाता है, दुनिया भर में बौद्धों द्वारा मनाया जाने वाला एक महत्वपूर्ण त्योहार है। यह बौद्ध धर्म के संस्थापक गौतम बुद्ध के जन्म, ज्ञान और मृत्यु का प्रतीक है। त्योहार वैशाख (अप्रैल/मई) के हिंदू महीने में पूर्णिमा के दिन पड़ता है और बौद्ध कैलेंडर में सबसे महत्वपूर्ण दिनों में से एक माना जाता है।  इस बार बुध पूर्णिमा की तारीख है 5 मई 2023

 

20 Tips How To Keep Calm मन और दिमाग को शांत कैसे रखे

 

बुद्ध पूर्णिमा का उत्सव प्राचीन काल से चला आ रहा है जब एक धर्मनिष्ठ बौद्ध सम्राट अशोक ने इसे अपने पूरे साम्राज्य में सार्वजनिक अवकाश घोषित किया था। आज, यह दुनिया भर के बौद्धों द्वारा बड़े उत्साह और भक्ति के साथ मनाया जाता है। इस दिन को विभिन्न अनुष्ठानों और समारोहों द्वारा चिह्नित किया जाता है जो गौतम बुद्ध और उनकी शिक्षाओं का सम्मान करने के लिए हैं।

बुद्ध पूर्णिमा पर सबसे महत्वपूर्ण अनुष्ठानों में से एक दीपक या मोमबत्तियां जलाना है। यह आत्मज्ञान का प्रतीक है और उस प्रकाश का प्रतिनिधित्व करता है जिसे गौतम बुद्ध ने अपनी शिक्षाओं के माध्यम से दुनिया में लाया। बौद्ध भी मंदिरों और मठों में जाकर प्रार्थना करते हैं और बुद्ध की मूर्तियों को प्रसाद चढ़ाते हैं।

 

How to Sharp Your Mind-how to keep your brain sharp

 

बुद्ध पूर्णिमा का एक अन्य महत्वपूर्ण पहलू दान है। बौद्ध समाज को वापस देने और जरूरतमंद लोगों की मदद करने में विश्वास करते हैं। इस दिन, वे उन लोगों को भोजन, वस्त्र, धन, या अन्य आवश्यक वस्तुएँ दान करते हैं जो कम भाग्यशाली हैं।

बुद्ध पूर्णिमा प्रतिबिंब और आत्मनिरीक्षण का भी समय है। बौद्ध इस दिन का उपयोग अपने स्वयं के जीवन को प्रतिबिंबित करने के लिए करते हैं और करुणा, दया और ध्यान का अभ्यास करके गौतम बुद्ध के नक्शेकदम पर कैसे चल सकते हैं।

 

फैट कम करने के 20 तरीके – Fat Kam Karne Ke Upay

 

इन अनुष्ठानों और प्रथाओं के अलावा, कई बौद्ध बौद्ध संस्कृति को प्रदर्शित करने वाले नाटक, नृत्य, संगीत प्रदर्शन और कला प्रदर्शनियों जैसे सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन करके भी बुद्ध पूर्णिमा मनाते हैं।

अंत में, बुद्ध पूर्णिमा पूरे विश्व में बौद्धों के लिए एक महत्वपूर्ण त्योहार है। यह उन्हें अपनी आध्यात्मिक यात्रा पर चिंतन करते हुए गौतम बुद्ध के जीवन और शिक्षाओं का सम्मान करने का अवसर प्रदान करता है। यह त्योहार हमारे दैनिक जीवन में करुणा, दया और ध्यान के महत्व की याद दिलाता है।

Spread the love