Success चाहिए तो चलते रहे लक्ष्य की तरफ

Success चाहिए तो चलते रहे लक्ष्य की तरफ
कभी बहती हुई नदी को देखना वह कितनी बाधाएं आए अपनी धारा के साथ निरंतर बहना छोड़ती नहीं है चाहे रफ्तार थोड़ी कम हो जाए पर वह कभी रुकती नहीं है अपनी कल कल करती ध्वनि के साथ आगे बहती चली जाती है और कई बार जाकर वह सागर में भी मिलती है जैसे सागर को मिलना ही उसका लक्ष्य है
अगर नदी बीच में बहना रुक जाए तो सोचो क्या होगा क्या वह कभी सागर से जाकर मिल पाएगी या वह एक चट्टान से टकरा टकरा कर यूं ही खत्म हो जाएगी क्या फिर वह अपनी कल कल करती ध्वनि का आनंद किसी और को दे पाएगी ठहर जाएगा उसका पानी तो वह कुछ दिनों में नष्ट हो जाएगी
अपनी मंजिल को पाना कोई आसान नहीं आसान होता तो आज सभी लोग ऊंचाइयों अपनी जिंदगी की छू रहे होते यूं ही सब मानसिक तनाव में नहीं होते सफलता के रास्ते में बहुत सारी मुश्किलें फन फैलाए खड़ी हैं वह बाधाएं हमें रोकती हैं हमारी हिम्मत को तोड़ती हैं जो मन से कमजोर होते हैं वह बीच में से रास्ता छोड़ देते हैं और असफलता को मान लेते हैं जो सशक्त होते हैं वह परेशानियों से हार नहीं मानते चाहे उनकी रफ्तार थोड़ी कम हो जाए पर रुकते नहीं है और जो रुकेगा नहीं वह अपनी मंजिल पा लेगा
पृथ्वी चांद सूर्य तारे सब लगातार चलते रहते हैं कभी कभी बीच में ग्रहण लगता है उसके बाद फिर वह उजाला वापिस आ जाता है समय अनवरत गति से चलता है इसलिए कहा जाता है वक्त की हर शै गुलाम ऐसे ही हवा भी पल पल बहती है अगर हवा ना रहे तो हम सब लोग मर जाएंगे तो हवा कभी 30 बहती है कभी मंद गति से बहती है तभी सुगंधित बहती है और हमारी जिंदगी को रफ्तार देती है अगर आप अपनी जिंदगी में सफल होना चाहते हो तो प्रकृति से हमें चलना सीखना होगा अगर हमें अपने लक्ष्य तक पहुंचना है कि हमें अपने आप से एक वादा करना होगा कि हमें कभी रुकना नहीं है
For Motivational Videos and Quotes Subscribe our Youtube channel here Dr. Renu Arora
कभी कभी मंजिल हमारे बहुत करीब होती है पर हम यह सोचते हैं कि बहुत थक गए हैं और शायद मंजिल अभी भी बहुत दूर है पर वह हमें हमारी थकान की वजह से दूर लगती है इसलिए कई बार हम मंजिल तक पहुंच कर भी असफल हो जाते हैं
अगर चलने के उदाहरण देखने हैं तो :-
हमारा दिल जो हमेशा बिना रुके धड़कते रहता है अगर रुक जाए तो हमारी मौत हो जाए इसलिए जिस तरह से दिल धड़कता है उसी तरह से अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए हर पल जुनून की आग जगाए रखें, Success thoughts को हमेशा सकरात्मक रखे
हमारे शरीर में खून का प्रवाह निरंतर होता रहता है कभी नहीं रुकता है जहां कहीं खून का प्रवाह रुकता है हमारे शरीर के उस हिस्से में दर्द होना शुरू हो जाता है इसी तरह से हमारी जिंदगी में है कि दिक्कतें आएंगी तो थोड़े समय के लिए हमारा प्रवाह रुकेगा हमारी गति रुकेगी पर फिर हमें अपनी जिंदगी को गति देने के लिए फिर से चलना होगा
कई बार लोगों को यह लगता है कि मैं अपना लक्ष्य प्राप्त करने जा रहा हूं उसमें राह में अकेला हूं मेरा कोई साथ देने वाला नहीं है तो इस एक Motivational Song जिसका नाम है चल अकेला, जो की 1968 में आई फिल्म संबंध से लिया गया है जिसे गाया था मशहूर गायक स्वर्गीय श्री मुकेश जी ने
हमारे कान और आंख नाक हमेशा खुले रहते हैं निरंतर बिना रुके हमारी सहायता करते रहते हैं हमारा काम करते रहते हैं इसी तरह अगर जिंदगी में हमें भी गति देनी है तो हमें निरंतर काम करना होगा कमर कसनी होगी लक्ष्य की तरफ चलना होगा बीच रास्ते में अगर कोई मुश्किले परेशानियां आ रही हैं तो उनका डटकर सामना करना होगा लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए आत्मविश्वास और जुनून का सहारा लेना होगा और तभी सफलता हमारे कदमों में होगी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares