Raksha Bandhan 2020 Quotes, एक बहन का भाई के नाम सन्देश

Raksha Bandhan 2020 Quotes, एक बहन का भाई के नाम सन्देश

Raksha Bandhan 2020 Quotes, एक बहन का भाई के नाम सन्देश

 

रक्षाबंधन हर वर्ष सावन मास की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है रक्षाबंधन में राखी का अर्थ रक्षा सूत्र से लिया जाता है राखी का त्यौहार भाई बहन के रिश्ते का त्यौहार है रक्षा सूत्र का मतलब है कि बहन भाई को राखी बांधकर अपनी सुरक्षा का वचन लेती है और बहने भगवान से अपने भाइयों की तरक्की और और लंबी उम्र की कामना करती हैं वैसे राखी बहने ही भाइयों को मानते हैं पर कई बार लोग भगवान को अपना भाई मानते हैं और उनको भी राखी बांधते हैं लोगों ने प्रकृति के संरक्षण के लिए भी वृक्षों को राखी बांधने शुरू की है

 

पुराने समय में राखी बांधते वक्त एक श्लोक का उच्चारण किया जाता था कि जिस रक्षा सूत्र से राजा बलि को बांधा गया था उसी सूत्र से मैं तुझे बांधती हूं और तेरी लंबी उम्र की कामना करती हूं, रक्षाबंधन का त्यौहार सामाजिक और परिवारिक एकता का भी प्रतीक है जब विवाह के बाद बहन ससुराल में चली जाती है तो या तो भाई उसके घर जाकर राखी बंधवा आता है या बहन राखी पर मायके आकर भाई को राखी बांधी है इससे रिश्तो में प्यार बढ़ता है

 

हमारी सेना के जवान जो अपने अपने घरों से बाहर रह रहे हैं वहां पर भी बहने जाकर चाहे वह उनकी नहीं है उनको राखी बांधती हैं ताकि उनको यह महसूस ना हो कि वह परिवार से दूर हैं राजपूत भी जब लड़ाई पर जाते थे तो महिलाएं उनके माथे पर रेशमी धागे के साथ-साथ माथे पर तिलक भी लगाती थी और इस उम्मीद से यह धागा बांधा जाता था कि यह धागा उन्हें विजय दिलवा कर वापस लाएगा, इसी तरह मेवाड़ की रानी कर्मावती को जब मेवाड़ पर हमला करने की सूचना मिली तो उसने बादशाह हुमायूं को राखी भेजा और कहा कि मेरी और मेरे राज्य की रक्षा करो, कहां जाता है सिकंदर की पत्नी ने भी अपने पति का जो हिंदू शत्रु था पूर्व वास उसको भी राखी बांध कर मुंह बोला भाई बना कर युद्ध समाप्ति की घोषणा करवाई थी

 

धार्मिक महत्व के अनुसार महाभारत काल में कृष्ण और द्रौपदी को भाई-बहन माना जाता रहा है कहां जाता है कि शिशुपाल का जब भगवान कृष्ण ने वध किया तो उनकी उंगली कट गई थी तो द्रौपदी ने अपनी साड़ी फाड़ कर उनकी उंगली पर पट्टी बांधी थी उस दिन सावन की पूरनमासी थी तभी से यह त्यौहार सावन की पूर्णमासी वाला दिन मनाया जाता है और कृष्ण ने भी एक भाई का फर्ज निभाकर द्रोपदी की चीर हरण के समय रक्षा की पर आज कलयुग में कानून बन गया है कि बहन माता पिता की संपत्ति में से भाई से हिस्सा मांग सकती है संपत्ति का बंटवारा करने के लिए उसे कोर्ट के कटघरे तक ले जा सकती है पर सभी बहने ऐसी नहीं होती हैं

 

एक बहन कविता के माध्यम से अपने भाई को क्या कहती है

 

मुझको हिस्सा नहीं चाहिए मायके की संपत्ति में

चाहे मां-बाप कुछ भी लिख जाए अपनी वसीयत में

मुझको नहीं कोई सोना चांदी चाहिए

मुझको बस अपनापन चाहिए

संबंधों की कीमत पर राखी मुझको नहीं वारनी

नहीं चाहिए मुझे कोई निमंत्रण नहीं चाहिए

नहीं चाहिए मुझे कोई तोहफे

बस हक देना मायके आने का

रुपया पैसा मुझे कुछ नहीं चाहिए 

मेरी राखी की कीमत है बस इतनी

मैं जब आऊं मायके में

तुम्हारा हाथ मेरे सर पर रहे 

टूटे से भी ना टूटे

कहलाता जो रक्षाबंधन

तुम भी इस कच्ची  मौली का मान रखना

मैं भी ताउम्र तुम्हारी बलैया लूगी

मुझको हिस्सा नहीं चाहिए मायके की संपत्ति में

 


 

भाई-बहन की यारी दुनिया में सबसे प्यारी।
बहन दूर होकर भी पास हो
उसका प्यार कभी किसी दुआ से कम नहीं होता
बहुत से रिश्ते दूरियों से फीके पड़ जाते हैं
पर बहन भाई का प्यार कभी कम नहीं होता
क्योंकि भाई से अच्छा कोई भागीदार नहीं होता
बहन बड़ी खुश किस्मत होती है
जिसके सिर पर भाई का हाथ होता है
क्योंकि भाई हर मुश्किल में बहन के साथ होता है
लड़ना झगड़ना और फिर प्यार से मनाना
तभी बहन भाई के रिश्ते में इतना प्यार होता है
राखी वह रिलेशनशिप है जो सबसे पावरफुल है
दुनिया की नजरों में भाई की कीमत जैसी भी हो
लेकिन बहन की नजरों में उसका भाई हमेशा हीरो होता है जब घर में सब आपका साथ छोड़ते हैं
तो सिर्फ बहन आपके साथ खड़ी होती है

 

Raksha Bandhan 2020 Quotes, एक बहन का भाई के नाम सन्देश, अगर आपको अच्छा लगा तो अपना फीडबैक जरुर दे 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares