Positive thoughts जी लो इन पलों को

Positive thoughts जी लो इन पलों को, ये वक़्त लौटकर नहीं आएगा

Positive thoughts जी लो इन पलों को, ये वक़्त लौटकर नहीं आएगा

 

ये वक़्त लौटकर नहीं आएगा जी लो इन पलों को जी भर के इस इस वक़्त हम सभी लॉकडाउन के चलते अपने अपने घर पर है तो ये हमें जो उस समय मिला है उसे महामारी की त्रासदी समझिए या ईश्वर की कृपा की इतनी व्यस्त लाइफ़ के चलते हम जो काम नहीं कर पा रहे थे अब हम वो काम आराम से बैठकर पूरा कर सकते हैं तो अब मौक़ा मिला है तो हम अपने हर शौक़ को पूरा की जी चाहे वो गाने गाने का शौक़ है चाहे वो फ़िल्में देखने का शौक़ है चाहे वो पेंटिंग करने का शौक़ है चाहे वो प्रभु से जुड़ने का शौक़ है

 

वक़्त का सही उपयोग करे 

 

तो बार बार इस चीज़ की शिकायत मत कीजिए कि हमें घर में बैठना पड़ रहा है घर में बैठने के के कारण हमें कुछ ऐसे पल मिले हैं हम अपने घर के साथ अपने साथ बहुत अच्छा समय दे सकते हैं इससे किसी भी तरह से नकारात्मक रूप से मत लो अगर इन दिनों को नकारात्मक रूप से ही लेंगे तो अवश्य ही आपकी मानसिक और शारीरिक स्थिति पर असर डालेंगे और आपको जो अंदर का सिस्टम है कमज़ोर हो जाएगा आपके अंदर से निकलने वाली अच्छी उरजा है उसको ख़त्म कर जाएगा तो आप अपने आप से प्रेम करो और वो सब शौक़ पूरे करो जो आप करना चाहते थे अगर हमे घर बैठने का मौक़ा न मिलता तो हमें यह सब देखने समझने का मौक़ा कैसे मिलता

देखिए हमारा जो पर्यावरण है वो कितना साफ़ हो गया जो काम सरकारे मिलकर इतने सालों में नहीं कर पाई वो आज कैसे प्रकृति ने हमें अंदर बिठा कर दिया

तो कोई भी ज़िंदगी में स्थितियां अच्छी या बुरी उसके अच्छे पहलू को देखो जब हम ज़िंदगी में अच्छे पहलू को देखना सीख जाते हैं तो ज़िंदगी बड़ी ख़ुशमय हो जाती है और उस हर पल का आनंद लीजिए कि हम कितने समय से घर में रहने को तरस रहे थे अपने बच्चों को समय देने से तरस रहे थे अपने आपको समय देने से तरस रहे थे आज जब वो प्रकृति ने आपको दिया है चाहे वो किसी भी रूप में दिए हैं तो उनका पूरी तरह से आनंद लीजिए प्रभु को पाइए जब हम किसी खेत में बीज बोते है तो सब के सब एक जैसे नहीं होते जो बीज बंजर ज़मीन पर गिरते हैं वो जल्द ही सूख जाते हैं वह फलते फूलते नहीं है

 

और जो अच्छी ज़मीन पर गिरते हैं फलते फूलते हैं उनके आस पास इतनी मिट्टी होती है कि वे अपनी जड़ों को जमा ले
इसलिए आपको ये वक़्त मिला है अपनी जड़ों को ज़माने का अपने परिवार को समझने का अपने को समझने का तो इसका पूरा आनंद लीजिए और बार बार इस महामारी को मत कोसिए और अपने अंदर से नकारात्मक भाव निकाल दीजिए और इन ज़िंदगी के मिले पलों को ख़ूब आनंदित तरीक़े से जिए

 

Positive thoughts जी लो इन पलों को आपको कैसा लगा, अपना फीडबैक जरुर दे

Similar Posts