Poetry In Hindi : Poem For Girls नारी का दर्द

Poetry In Hindi : Poem For Girls नारी का दर्द

मस्कार, आपको सब को सुबह सुबह की प्रणाम, स्वागत है आप सब का इस ब्लोग में, जहाँ रोजाना मेरी यही कोशिश रहती है  की आपको रोज़ नयी नयी चीजों से अवगत कराया जाए, फिर वो चाहे कविता के माध्यम से हो, मोटिवेशन ब्लॉग हो, एजुकेशन से सम्बधित कोई बात हो या फिर फैशन, ऑफिस डेकोरेशन, होम डेकोरेशन टिप्स, त्योहारों की बात हो या फिर हेल्थ केयर टिप्स हो, उम्मीद है की आपको ये सब ब्लॉग पसंद आते होगे और आप सब को अच्छा लगता होगा, लेकिन अगर आप पसंद करते है तो इसे शेयर करना मत भूलिए

 

Hindi poem on girl respect

नारी तुम

पुरुष न हो पाओगी

वो कठोर दिल

कहाँ से लाओगी

 

ज्ञान की तलाश क्या

सिर्फ बुद्ध को थी

क्या तुम नहीं पाना चाहती

वो ज्ञान

 

किन्तु जा पाओगी,

अपने पति परमेश्वर

और नवजात शिशु

को छोड़कर

 

तुम तो उनपर

जान लुटाओगी

उनके लिये अपने भविष्य को

दाँव पर लगाओगी

उनकी होंठो के

एक मुस्कुराहट के लिए

अपनी सारी खुशियो की

बलि चढ़ाओगी

 Hindi Poem on Betiyan

नारी तुम

पुरुष न हो पाओगी

वो कठोर दिल

कहाँ से लाओगी

 

क्या राम बन पाओगी

क्या कर पाओगी

अपने पति का परित्याग,

उस गलती के लिए

जो उसने की ही नहीं

 Best Hindi Poetry lines

ले पाओगी

उसकी अग्निपरीक्षा

उसके नाज़ायज़ सबंधो

के लिए भी

 

क्षमा कर दोगी उसकी

गलतियों के लिए,

हज़ार गम पीकर भी मुस्कराओगी

 

नारी तुम

पुरुष न हो पाओगी

वो कठोर दिल

कहाँ से लाओगी

 

क्या कृष्ण बन पाओगी

जोड़ पाओगी अपना नाम

किसी परपुरुष के साथ

 Heart Touching Hindi Poem

जैसे कृष्ण संग राधा

अगर तुम्हारा नाम जुड़ा

तो तुम चरित्रहीन कहलाओगी

तुम मुस्कुराकर

बात भी कर लोगी,

तो भी कलंकिनी

कुलटा कहलाओगी

 Poetry On Women

नारी तुम

पुरुष न हो पाओगी

वो कठोर दिल

कहाँ से लाओगी

 

क्या युधिष्ठिर बन पाओगी

जुए में पति को

हार जाओगी

तुम तो उसके

सम्मान की खातिर,

दुर्गा चंडी हो जाओगी

खुद को कुर्बान कर जाओगी

मौत भी आये तो ,

उसके समक्ष

अभय खड़ी हो जाओगी।

 Hindi Poetry

नारी तुम

पुरुष न हो पाओगी

वो कठोर दिल

कहाँ से लाओगी

 

रहने दो तुम

ये सब,क्योंकि

 

तुम नाजुक हो,

तुम सरल हो,

तुम सहज हो,

तुम निश्चल हो,

तुम निर्मल हो,

तुम कोमल हो,

तुम जीवन हो,

तुम प्रेम ही प्रेम हो,

खूबसूरत प्रेरणादायक कविता 

ईश्वर की अद्भुत सुंदरतम

कृति हो तुम

 

नारी हो तुम

 

Poetry In Hindi : Poem For Girls नारी का दर्द

Leave a Comment