Parenting Tips 2020 क्या करे जब बच्चे घर के कामों में हाथ ना लगाए

Parenting Tips 2020 क्या करे जब बच्चे घर के कामों में हाथ ना लगाए

Parenting Tips 2020 क्या करे जब बच्चे घर के कामों में हाथ ना लगाए

 

बच्चे अक्सर घर के कामों से जी चुराते हैं और उसमें भी कहीं न कहीं माँ बाप ज़िम्मेवार होते हैं क्योंकि कई बार दादा दादी कह देते हैं हमने अपने बच्चों से काम नहीं कराया तो तुझे भी अपनी माँ का काम करने की ज़रूरत नहीं है कई बार बच्चे अपने पिता को देखते हैं कि वो घर पे बैठे बैठे हर चीज़ का ऑर्डर कर रहे हैं तो भी बच्चे काम नहीं करते हैं

 

बच्चो को आत्मनिर्भर बनाये

कई बार माँ लड़के और लड़की में भेद करती है ये काम लड़के नहीं करते ही लड़कियाँ करती है कई बार कह देती है कि घर में नौकर है मैं हूँ तो बच्चों तुम्हें काम करने की क्या ज़रूरत है, तो ये ध्यान रखिए कि हमें बच्चों से जो काम कराना है वो हमें घर के कामों में सहयोग के लिए नहीं, उन्होंने कहीं हॉस्टल में रहने जाना है कल को उन्होंने उनको अलग रहने की ज़रूरत पड़ जाती है या आप मसलन बीमार हो जाती है तो उनको सहयोग के तौर पर कुछ न कुछ वरना तो आना चाहिए कि वो उस समय काम संभाल पाए और जब हमने कुछ करने की नहीं देंगे तो बच्चा आने वाली परिस्थितियों को कैसे संभालेगा

 

कई बार  हम क्या है सजा के तौर पे काम देते हैं चल चल सफ़ाई का काम किचन में काम कर क्योंकि आज तुझे पढ़ना तो है ही नहीं, हम बच्चे से काम करवाते हैं तो लगातार सलाह देते रहेंगे ध्यान से करना और टूट जाएगा अगर बच्चे को किचन में जाने का शौक़ है तो तू बच्चे को आप काम बताएँ पर पर बार हिदायतें मतलब दे हम बड़ों से भी तो काम करते चीज़ें गिरती है टूटती है तो बच्चे को प्रोत्साहित करिए कभी कभी मेहमान आया होतो बच्चों से पानी मंगवाए उसे डाइनिंग टेबल लगाने के लिए कहे बच्चा कुछ बड़ा हो जाए तो उसे चाय भी बनवा ये और सबके सामने उसकी तारीफ़ भी करे वो बहुत अच्छी चाय बनाता है बनाती है

 

घर के कामकाज में बच्चो की रूचि बढ़ाये

 

और यक़ीन मानिए आज की तारीख़ में ये सबसे बड़ी ज़रूरत बन गई है और ये कहने से आप बहुत बढ़िया नहीं हो जाएंगे कि मैं अपनी बच्ची से घर का काम नहीं करवाती और एक बार बच्चा हॉस्टल चला जाएगा तो जब उसे अपने लिए कुछ बनाना नहीं आएगा अपना कमरा ठीक ढंग से साफ़ सफ़ाई करना नहीं आएगा मैनेज करना नहीं आएगा अपने कपड़े लगाने नहीं आएँगे तो बच्चा परेशान होगा

 

बच्चे को घर में ही शुरू से ही ट्रेनिंग देकर भी चाहिए और बच्चे को ये समझाइए की बेटा और बेटी ये ट्रेनिंग जरूरी है तेरे आने वाले भविष्य के लिए ज़रूरी है, अगर बच्चा हॉस्टल में नहीं जा रहा तोभी घर में कभी कोई ऐसी ज़रूरत आन पड़ती है तो बच्चे को उस समय पे वो चीज़ें संभालने की घर का काम करने की आदत होनी चाहिए

 

गलत काम करने पर बच्चो को प्रोत्साहित मत करे 

 

कई बार हमारे बच्चे में ऐसी आदत पड़ जाती है कि जिस भी बच्चे को देखता है उसको मारपीट कर देता है और कई माता पिता भी इस बात से बड़े ख़ुश होते हैं मेरा बच्चा मार खाकर नहीं आता बल्कि दूसरे बच्चों को मारकर आता है और वो इसके लिए कई बार अपने बच्चे की पीठ भी थपथपाते हैं और दूसरा लोग जब उनसे शिकायत करते हैं तो पेरेंट्स कहते है की नहीं हमारा बच्चा तो ऐसा कर ही नहीं सकता

 

कई बार माएँ बच्चों को इस इस चीज़ से हटाने के लिए बोलती है की तुम्हें टीचर से डांट देंगी या तुम्हें वो इंजेक्शन लगवा देंगे और थोड़े दिन बाद बच्चे को पता लग जाता है ये तो सब बातें झूठ है और वो ज़्यादा मारने पीटने लग जाता है और घर में भी जब बच्चे लड़ते हैं तो बच्चों को सामने बिठाकर समझाएँ कि अगर आप इस तरह से मारपीट करते रहेंगे कोई आपसे खेलेगा नहीं कोई आपसे बात नहीं करेगा आपको किसी चीज़ में अगर सहायता चाहिए होगी तो कोई आपकी सहायता नहीं करेगा आप उससे मारपीट के जो भी दुष्परिणाम हैं तो ज़रूर बताएँ और ज़रूरत पड़े तो बच्चे को इसके लिए सज़ा भी ज़रूर दे बहुत सख़्त है व्यवहार भी अपनाए

 

पर हाथ नहीं उठाए आपस में ये कर सकते हैं कि तेरे को तेरी पसंद का खाना नहीं मिलेगा तेरा आज का टीवी या वीडियो गेम का जो टाइम है वो कट कर दिया गया क्योंकि तुमने आज बच्चों से मारपीट की है और यहाँ आज घर में 2 घंटे कोई बात नहीं करेगा तुझे कोई नहीं बुलाएगा तो इस तरह के कुछ उपाय अपनाकर हम अपने बच्चों में दे रहे हैं और सहनशीलता के साथ सुधार ला सकते हैं

 

Follow me also on youtube Dr. Renu Arora

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares