Nipah Virus Symptoms In Hindi – Nipah Virus In India

Nipah Virus Symptoms In Hindi – Nipah Virus In India

What is Nipah Virus ( Nipha Virus क्या है )

निपाह वायरस (NiV) एक ज़ूनोटिक वायरस है जो मनुष्यों में गंभीर और अक्सर घातक संक्रमण पैदा कर सकता है। यह मुख्य रूप से जानवरों से मनुष्यों में फैलता है, आमतौर पर दूषित भोजन के सेवन या संक्रमित जानवरों के सीधे संपर्क के माध्यम से। निपाह वायरस की पहचान पहली बार 1998 में मलेशिया में हुई थी जब यह सुअर पालकों में फैल गया और बाद में मनुष्यों में फैल गया। इस वायरस का नाम मलेशिया के सुंगई निपाह गांव के नाम पर रखा गया है जहां इसका प्रकोप हुआ था। Nipah Virus Symptoms In Hindi – Nipah Virus In India

Symptoms of Nipha Virus ( Nipah Virus के लक्षण )

निपाह वायरस एक ज़ूनोटिक वायरस है जो मनुष्यों में गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है। निपाह वायरस संक्रमण के लक्षण गंभीरता में भिन्न हो सकते हैं, लेकिन उनमें आम तौर पर शामिल हैं:

Nipha Virus Symptoms

बुखार का होना 

निपाह वायरस का संक्रमण अक्सर अचानक तेज बुखार के साथ शुरू होता है।

सिरदर्द होना

गंभीर सिरदर्द एक सामान्य लक्षण है।

मांसपेशियों में तेज दर्द

मांसपेशियों में दर्द और दर्द हो सकता है।

श्वसन संबंधी लक्षण

मरीजों में खांसी, गले में खराश और सांस लेने में कठिनाई जैसे श्वसन संबंधी लक्षण विकसित हो सकते हैं।

मतली और उल्टी होना 

मतली और उल्टी आम शुरुआती लक्षण हैं।

चक्कर आना

कुछ व्यक्तियों को चक्कर आना या भटकाव का अनुभव हो सकता है।

परिवर्तित चेतना:

जैसे-जैसे संक्रमण बढ़ता है, मरीज़ भ्रमित हो सकते हैं या चेतना में परिवर्तन का अनुभव कर सकते हैं, जिसमें सतर्कता का कम स्तर या कोमा भी शामिल है।

दौरे पड़ना 

कुछ मामलों में दौरे पड़ सकते हैं।

गर्दन में अकड़न हो जाना 

गर्दन में अकड़न और गर्दन में दर्द निपाह वायरस के संक्रमण का लक्षण हो सकता है।

एन्सेफलाइटिस:

निपाह वायरस मस्तिष्क की सूजन का कारण बन सकता है, जिसे एन्सेफलाइटिस कहा जाता है, जिसके परिणामस्वरूप भ्रम, मतिभ्रम और पक्षाघात जैसे गंभीर न्यूरोलॉजिकल लक्षण हो सकते हैं।

Nipah Virus In India

निपाह वायरस (एनआईवी) का प्रकोप पहले भी भारत में हुआ है, और देश में इस वायरस के कई मामले और प्रकोप देखे गए हैं, विशेष रूप से केरल में इस वायरस के ज्यादा केस आ रहे है, ऐसे में आप सब से निवेदन है की आप इस वायरस से बच कर रहे 

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि लक्षणों की गंभीरता और संयोजन व्यक्तियों में अलग-अलग हो सकते हैं। निपाह वायरस का संक्रमण घातक हो सकता है और इसके लिए कोई विशिष्ट एंटीवायरल उपचार नहीं है। निपाह वायरस से संक्रमित लोगों के लिए अस्पताल में भर्ती होने और लक्षणों के प्रबंधन सहित सहायक देखभाल आवश्यक है। इसके अतिरिक्त, वायरस को दूसरों तक फैलने से रोकने के लिए सख्त संक्रमण नियंत्रण उपाय आवश्यक हैं, क्योंकि यह निकट संपर्क में एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है। यदि आपको संदेह है कि आप या आपका कोई परिचित निपाह वायरस के संपर्क में आ गया है और लक्षण प्रदर्शित कर रहा है, तो तुरंत चिकित्सा सहायता लेना महत्वपूर्ण है।

Spread the love