Guru Nanak Jayanti 2022 – गुरु नानक देव जयंती की शुभकामनाये

Spread the love

Guru Nanak Jayanti 2022 – गुरु नानक देव जयंती की शुभकामनाये

 

नमस्कार, आप सब का स्वागत है मेरे इस ब्लॉग में, आज सबसे पहले आप सब को गुरु नानक देव जयंती की बहुत बहुत शुभकामनाये और साथ ही कार्तिक पूर्णिमा के पावन अवसर पर वाहेगुरु जी सब पर मेहर करे, Happy Guru Purab आप सब को, बस इसी तरह हसदे रहो, वसदे रहो, साथ ही वाहेगुरू जी का नाम सिमरन करते रहो, क्यूंकि इनके नाम सिमरन के बिना जिदंगी को सही राह नहीं मिल पाती, दुःख दर्द में हम भगवान को याद करते लेकिन सुख के समय में भी ऊपर वाले का नहीं भूलना चाहिए, वाहेगुरु बस सब पर मेहर बना कर रखे और सबके घर में सुख और शांति बने रहे, Guru Nanak Jayanti 2022 – गुरु नानक देव जयंती की शुभकामनाये

बात करे इस बार गुरु नानक जयंती कब है तो आपको बता दे की इस बार गुरु नानक देव जी का 553वा प्रकाशउत्सव पुरे धूम धाम से 8 नवम्बर को मनाया जा रहा है, इसके लिए पंजाब से लेकर पूरी दुनिया में ही उत्सव की लहर है, मानवता को हमेशा ऊँचा रखने के लिए गुरु नानक देव जी ने अपना बलिदानं दे दिया, ये पूरी मानव जाती इस चीज़ को हमेशा याद रखेगी जब तक ये दुनिया कायम है 

ੴ सति नामु करता पुरखु निरभउ निरवैरु अकाल मूरति अजूनी सैभं गुर प्रसादि ॥
जपु
आदि सचु जुगादि सच
है भी सचु नानक होसी भी सच
सोचै सोचि न होवई जे सोची लख वार 
चुपै चुप न होवई जे लाइ रहा लिव तार 
भुखिआ भुख न उतरी जे बंना पुरीआ भार 
सहस सिआणपा लख होहि त इक न चलै नालि
किव सचिआरा होईऐ किव कूड़ै तुटै पालि
हुकमि रजाई चलणा नानक लिखिआ नालि 
May Guru Nanak Dev Ji teachings be guiding light for us all
May Guru Nanak Dev Ji inspire you to achieve
all your goals, dreams and wishes,
May his blessings be with you in all your endeavors,
Happy Guru Purab 
Satguru Nanak ji pragatya,
Meeti dund jag chanan hoya
गुरु नानक देव के शब्द, जीवन के लिए 

ਹੁਕਮੀ ਹੋਵਨਿ ਆਕਾਰ ਹੁਕਮੁ ਨ ਕਹਿਆ ਜਾਈ 
ਹੁਕਮੀ ਹੋਵਨਿ ਜੀਅ ਹੁਕਮਿ ਮਿਲੈ ਵਡਿਆਈ ॥
न ਹੁਕਮੀ ਉਤਮੁ ਨੀਚੁ ਹੁਕਮਿ ਲਿਖ ਦੁਖ ਸੁਖ ਪਾਈਅਹਿ ॥
ਇਕਨਾ ਹੁਕਮੀ ਬਖਸੀਸ ਇਕਿ ਹੁਕਮੀ ਸਦਾ ਭਵਾਈਅਹਿ ॥
ਹੁਕਮੈ ਅੰਦਰਿ ਸਭੁ ਕੋ ਬਾਹਰਿ ਹੁਕਮਿ ਨ ਕੋਇ ॥
ਨਾਨਕ ਹੁਕਮੈ ਜੇ ਬੁਝੈ ਤ ਹਊਮੈ ਕਹੈ ਨ ਕੋਇ

 

Guru Nank Dev Ji Wallpaper

 

मंनै मारगि ठाक न पाइ ॥
मंनै पति सिउ परगटु जाइ ॥
मंनै मगु न चलै पंथु ॥
मंनै धरम सेती सनबंधु ॥
ऐसा नामु निरंजनु होइ ॥
जे को मंनि जाणै मनि कोइ ॥१४॥
मंनै पावहि मोखु दुआरु ॥
मंनै परवारै साधारु ॥
मंनै तरै तारे गुरु सिख ॥
मंनै नानक भवहि न भिख ॥
ऐसा नामु निरंजनु होइ ॥
जे को मंनि जाणै मनि कोइ ॥

 

बस आपसे यही कहना चाहती हूँ की हमेशा वाहेगुरू जी के नाम सिमरन करो, वाहेगुरू जी का खालसा, वाहेगुरु जी की फ़तेह, जिंदगी को  अगर सफल बनाना है तो हमेशा ये याद रखना की गुरु नानक देव जी के उपदेश, गुरु नानक देव जी के शब्दों और गुरु नानक देव जी के दोहे हमेशा याद रखना, वाहेगुरू जी हमेशा मेहर करो