Ganesh Chaturthi 2023 Date शुभ मुहूर्त, विसर्जन तिथि

Ganesh Chaturthi 2023 Date शुभ मुहूर्त, विसर्जन तिथि

 

गणेश चतुर्थी, जिसे विनायक चतुर्थी के नाम से भी जाना जाता है, एक हिंदू त्योहार है जो बुद्धि, समृद्धि और सौभाग्य के हाथी के सिर वाले देवता भगवान गणेश के सम्मान में मनाया जाता है। यह त्योहार आमतौर पर हिंदू चंद्र कैलेंडर के आधार पर अगस्त या सितंबर के महीने में आता है। Ganesh Chaturthi 2023 Date शुभ मुहूर्त, विसर्जन तिथि

Ganesh Chaturthi 2023 Date 

बात करे अगर गणेश चतुर्थी कब है तो आपको बता दे की गणेश चतुर्थी 2023 में 19 सितम्बर 2023 को शुरू होगी

Ganesh Chaturthi 2023 start and end date

गणेश चतुर्थी के पावन त्यौहार की शुरू होने की तिथि है 19 सितम्बर 2023 और गणेश चतुर्थी के समापन की तिथि है 28 सितम्बर 2023

Ganesh Chaturthi 2023 Visarjan date

गणेश चतुर्थी विसर्जन डेट की बात करे तो ये है 28 सितम्बर 2023

यह त्यौहार कई दिनों तक चलता है, जिसमें सबसे महत्वपूर्ण उत्सव शुक्ल पक्ष के चौथे दिन होता है, जिसे “चतुर्थी” के नाम से जाना जाता है।

Ganesh Chaturthi 2023 Shubh Muhurat Puja Muhurat

आपको बता दे की चतुर्थी तिथि 18 सितम्बर 2023 को 12 बजकर 39 से शुरू होकर अगले दिन 19 सितम्बर 2023 को 1 बजकर 43 तक रहेगी 

वही गणेश चतुर्थी 2023 के शुभ मुहूर्त यांनि की पूजा मुहूर्त की बात करे तो ये 19 सितम्बर 2023 को सुबह 11 बजकर 1 मिनट से शुरू होकर दोपहर 1 बजकर 28 मिनट तक रहेगा 

यहां गणेश चतुर्थी के कुछ प्रमुख पहलू हैं:

गणेश मूर्ति स्थापना: त्योहार का केंद्रबिंदु घरों और सार्वजनिक स्थानों पर भगवान गणेश की मूर्ति की स्थापना है। ये मूर्तियाँ आम तौर पर मिट्टी से बनी होती हैं और खूबसूरती से सजाई जाती हैं। मूर्ति स्थापित करने की प्रक्रिया को “स्थापना” कहा जाता है।

प्रार्थना और प्रसाद: भक्त भगवान गणेश को प्रार्थना, फूल, फल, मिठाई और विभिन्न अन्य प्रसाद चढ़ाते हैं। विशेष भजन और मंत्र पढ़े जाते हैं, और “आरती”  की जाती है।

पूजा और अनुष्ठान: पुजारी या परिवार के सदस्य गणेश का आशीर्वाद पाने के लिए विस्तृत पूजा (अनुष्ठान) करते हैं। इसमें मंत्रों का जाप, धूपबत्ती और दीपक जलाना शामिल है।

कई स्थानों पर, विशेष रूप से महाराष्ट्र राज्य में, गणेश मूर्तियों को नदियों या समुद्र जैसे जल निकायों में विसर्जित करने के लिए बड़े सार्वजनिक यात्राये आयोजित किए जाते हैं। ये संगीत, नृत्य और उत्साही भक्तों के साथ होते हैं।

सामुदायिक भागीदारी: गणेश चतुर्थी एक सामुदायिक त्योहार है, और जीवन के सभी क्षेत्रों के लोग जश्न मनाने के लिए एक साथ आते हैं। यह लोगों के बीच एकता और भक्ति की भावना को बढ़ावा देता है।

Dehydration kya hota hai: जाने डिहाइड्रेशन के लक्षण

भगवान गणेश को बाधाओं को दूर करने वाले और नई शुरुआत के देवता के रूप में पूजा जाता है। उनका हाथी का सिर ज्ञान का प्रतीक है, और उनके बड़े कान सुनने और समझने के महत्व को दर्शाते हैं।

गणेश चतुर्थी न केवल एक धार्मिक त्योहार है बल्कि एक सांस्कृतिक उत्सव भी है जो लोगों को भगवान गणेश का आशीर्वाद लेने और समुदाय में एकता और सद्भाव को बढ़ावा देने के लिए एक साथ लाता है। यह भगवान गणेश द्वारा दर्शाए गए मूल्यों पर खुशी, भक्ति और प्रतिबिंब का समय है।

Spread the love