Face mask होने वाली प्रॉब्लम और उनके हल

Face mask होने वाली प्रॉब्लम और उनके हल

Face mask होने वाली प्रॉब्लम और उनके हल

 

कोरोना महामारी के चलते आज सभी को फेस मास्क पहनना एक मजबूरी हो गई है और गर्मी के मौसम में इसको पहन के रखना एक और सबसे बड़ी मुसीबत हो गई है क्योंकि गर्मी का मौसम और मुंह और नाक को कपड़े से या सर्जिकल face mask से ढकने से कई लोगों को दिक्कतें आ रही हैं तो कौन-कौन सी दिक्कतें आती हैं और कैसे हम इनको हल कर सकते हैं


1) चश्मे पर भाप का जमा होना
सबसे बड़ी दिक्कत उन लोगों के साथ आती है जिन्होंने नजर का चश्मा पहना है आंखों पर नजर का चश्मा और और नाक मास्क से ढका होना बहुत बड़ी दिक्कत होता है और चश्मे पर अक्सर भाग जम जाती है जिससे चश्मा धुंधला हो जाता है सही नहीं दिखता या जो धूप का चश्मा भी पहनता है उसके साथ भी यही दिक्कत आती है
इस समस्या को दूर करने के लिए मास्क जो भी प्रयोग कर रहे हैं वह सुनिश्चित कर लें कि वह पूरा फिट हो इससे जो मुंह और नाक से निकलने वाली सास है वह आपके चश्मे पर नहीं जाएगी अगर आप कपड़े का मास्क प्रयोग कर रहे हैं तो आप नाक के ऊपर जहां मास्क होता है उसमें एक वायर लगा सकते हैं ताकि मास्क चश्मे से दूर रहे या बिना अल्कोहल वाला सोप चश्मे के लेंस पर रगड़ने और कोमल कपड़े से से साफ कर ले तो इससे भी चश्मे पर भाप नहीं जमेगी

2)  जो लोग हीरिंग ऐड का इस्तेमाल करते हैं
जिन लोगों को कम सुनाई देता है उनके कानों में एक मशीन लगी होती है उनके लिए मास्क पहनना दिक्कत का काम हो जाता है क्योंकि मास्क में जो इलास्टिक लगा होता है वह आपके ही रिमेड के चारों तरफ लिपट सकते हैं और जब आप मास्क उतारते हैं तो आपके  हीरिंग ऐड खींचते भी हैं तो आप ऐसा मास्क लें जो इलास्टिक वाला ना हो और आप अपने हाथ से इसको जहां सेट करना चाहे बांधकर सेट कर सकें

3) त्वचा का सेंसिटिव होना
कई लोगों की त्वचा बहुत सेंसिटिव होती है और उन्हें सर्जिकल मास्क यह किसी खास कपड़े से खारिश हो सकती है जो लोग लंबे समय तक मास्क पहनते हैं तो उनके लिए जरूरी है वह सूती कपड़े से घर का बना मास्क पहने और एक की बजाय तीन चार मास्क अपने साथ रखें और समय-समय पर उन्हें बदलते रहें और घर आकर सारे मास्क डेटॉल वाले पानी से धोने और साफ करें इससे उनकी त्वचा की एलर्जी है उस पर फर्क पड़ेगा

4)  गर्मी की समस्या
गर्मी के मौसम में मास्क पहनना कठिन ही नहीं मुश्किल भी है क्योंकि जैसे-जैसे गर्मी बढ़ती है वैसे-वैसे मास्क ढीला करने का मन करता है ताकि कुछ हवा अंदर जाए पर ढीला मास्क पहनना स्वास्थ्य की दृष्टि से उचित नहीं है और टाइट मास्क से पसीना उत्पन्न होता है जो कि बैक्टीरिया भी फैला सकता है तो इसलिए गर्मी के मौसम में अपने साथ एक से ज्यादा मास्क रखें और अगर आपको मास्क पहनने में दिक्कत हो रही है तो आप डिस्पोजेबल या सर्जिकल मास्क का प्रयोग करें क्योंकि कपड़े के मास्क की तुलना में इन में सांस लेना आपको आसान रहेगा

5)  सांस की बदबू और चेहरे के भावों और मुस्कुराहट का छिप जाना
कई लोगों को सांस की बदबू की समस्या होती है मास्क लगाने से यह समस्या का एहसास आपको अधिक हो सकता है और यदि मास्क पहनते हुए आपको इस समस्या का एहसास हो रहा है इसका मतलब आपके मुंह में और दांतों में बैक्टीरिया चल रहे हैं तो आपको दांतो के साथ-साथ जीभ की सफाई भी रोजाना करनी पड़ेगी हो सकता है इसी विशेषज्ञ के पास भी जाना पड़े क्योंकि कई बार अगर आपको साइनस की या टॉन्सिल के समझते हैं तो उससे भी सांस की बदबू आती है

Face Mask की वजह से हमें दूसरे लोगों के चेहरों को पढ़ना मुश्किल हो जाता है कि हमारी बात से कोई कैसा महसूस कर रहा है तो हमें अब आंखों को पढ़ने की कला भी सीखनी पड़ेगी और गर्मजोशी हमें आंखों से ही दिखानी पड़ेगी
मास्क पहनने से होने वाली समस्याएं और उनके हल के बारे में आपको बताया गया है क्योंकि अगर समस्या पैदा होती है तो उसके हल भी साथ साथ जरूर निकलते हैं

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *