Dussehra 2021 date- जानिये दशहरा कब है 2021 में

Dussehra 2021 date- जानिये दशहरा कब है 2021 में

नमस्कार और आपस अभी को राम राम, उम्मीद करती हूँ की आप सब और आपके परिवार में सब अच्छे से होंगे, बस इसी तरह से अपना अपने परिवार का ध्यान रखते रहे, सितम्बर का महिना अब खत्म होने वाला है और श्राद्ध भी ख़तम होने वाले है और ठीक इसके बाद में अक्टूबर में त्योहारों की शुरुआत होने वाली है 

सबसे पहले नवरात्रों का प्रारम्भ होगा और नवरात्रों के साथ आपको पुरे भारत वर्ष में रामलीला का आयोजन भी दिखेगा, लेकिन यहाँ सबके मन में एक सवाल बड़ी उत्सुकता से आ रहा है की दशहरा कब का है 2021 में ( Dussehra 2021 Kab Hai ) देखिये अगर Dussehra 2021 date In India की बात करे तो इस बार दशहरा पुरे भारत वर्ष में 15 अक्टूबर 2021 दिन शुक्रवार को मनाया जाएगा

दशहरा जिसे विजय दशमी के त्यौहार के रूप में भी माना जाता है जो की दीवाली से ठीक 20 दिन पहले आश्विन महीने के शुक्ल पक्ष की दशमी तारीख को मनाया जाता है, यही वो दिन है जिस दिन भगवान् राम ने लंकापति रावण को उसके दुस्सहास की सजा देते हुए वध किया था और बताया की बुराई का अंत हमेशा बुरा ही होता है, दशहरा का त्यौहार प्रतीक है बुराई पर अच्छाई की जीत का, झूठ पर सच की जीत का 

यही नहीं विजय दशमी  के दिन माँ दुर्गा ने महिषासुर का वध किया था, इसलिए भी इस त्यौहार का महत्व और भी ज्यादा बढ़ जाता है, भारत में तो इस त्यौहार की तो खूब धूम रहती है खासकर बच्चो में काफी उत्साह देखने को मिलता है क्यूंकि इस लगभग हर जगह मेलो का आयोजन भी किया जाता है, दशहरा वाले दिन दिन शाम के समय रावण, कुंभकर्ण, मेघनाद के पुतलो का जलाया जाता है, कही जगह तो बहुत ज्यादा पैसे भी खर्चे जाते है इन पुतलो को बनाने में 

लेकिन फिर भी आप ध्यान जरुर रखे क्यूंकि अभी भी कोरोना पूरी तरह से गया नहीं है, मास्क जरूर पहना कर रखे और उचित दुरी बना कर जरुर रखे, कोरोना से बचाव बहुत जरुरी है, ताकि हमारा और आप सब का परिवार एक अच्छी से हेल्थकेयर लाइफ जिए

दशहरा का महत्व 

हिन्दू धर्म में दशहरा का अपना ही एक खास महत्त्व है, इस दिन भगवान् राम की रावण पर जीत का जश्न पूरी धूमधाम से मनाया जाता है यही नहीं इस दिन अस्त्र-शस्र की पूजा का विधान भी है, किसान भी नयी फसलों का जश्न मनाते है, बच्चो के लिए भी दशहरा का अपना ही महत्त्व है है क्यूंकि हर स्कूल में दशहरा पर निबंध जरुर पढ़ाया जाता है क्यूंकि इससे सीख मिलती की कभी अहंकार में नहीं रहना चाहिए, और कभी भी बुराई का साथ नहीं देना चाहिए, देर सवेर बुराई का अंत होना निश्चित है 

दशहरा का शुभ मुहूर्त

बात करे अगर अश्विन महीने के शुक्ल पक्ष के दशमी के शुरू होने के समय की तो ये 14 अक्टूबर दिन वीरवार को शाम 6 बजकर 52 से शुरू होकर अगले दिन 15 अक्टूबर 2021 की शाम 6 बजकर 2 मिनट तक है वही दशहरा की पूजा मुहूर्त का समय 15 अक्टूबर को दोपहर 2 बजकर 2 मिनट से शुरू होकर 2 बजकर 48 मिनट तक है 

Happy Dussehra Images, Wallpapers