5 Good Parenting Tips बढ़ते बच्चों की बुरी आदतों पर कैसे काबू पाए

5 Good Parenting Tips बढ़ते बच्चों की बुरी आदतों पर कैसे काबू पाए

5 Good Parenting Tips बढ़ते बच्चों की बुरी आदतों पर कैसे काबू पाए

 

शादी हुई मां बाप बने अभी तक हम बच्चे थे अब हमें अपने बच्चों को संभालने की जरूरत है बच्चा बनना बहुत आसान है पर मां बाप बनना और वह भी अच्छे मां-बाप बन्ना आज के युग में बहुत मुश्किल है क्योंकि टेक्नोलॉजी इतनी फास्ट हो चुकी है हर समय बच्चे की देखभाल के साथ उसे कई बुरी चीजों और आदतों से बचाने के लिए सावधान रहना पड़ता है कई बार बच्चे ऐसी ऐसी हरकतें कर जाते हैं कि मां-बाप की नाक के नीचे ही बुरी आदतें सीख जाते हैं

 

 

 

पहले लोग कहते होते थे बच्चे को अस्सी परसेंट घर से सीख मिलती है और 20 पर्सेंट उसे बाहर के वातावरण में जाता है वहां से सीख कर आता है उससे उसका व्यक्तित्व विकसित होता है पर आजकल उल्टा है आजकल बच्चा 80 पर्सेंट बाहर से सीख कर आता है और 20 पर्सेंट घर के वातावरण से सीखता है स्कूल टीवी इंटरनेट और परिवार एवं दोस्तों से बच्चे रोज कुछ नया सीखते हैं अब जब कुछ नया सीखते हैं तो जरूरी नहीं कि हर बार अच्छा सीखेंगे कई बार बहुत बुरी आदतें भी ले लेते हैं जिनका माता पिता को बाद में पता लगता है और कई बार आदतें ऐसी हो जाती हैं कि छुड़वाना मुश्किल हो जाता है कई बार बच्चे दूसरे बच्चों की देखा देखी भी कुछ बुरी आदतें सीख लेते हैं और उन्हें लगता है कि वह बच्चा यह कर रहा है तो उसकी आदत अच्छी ही होगी

 

 

 

1) शब्दों में गलत भाषा का प्रयोग करना

 

 

छोटे होते कई बार बच्चे गालियां देते हैं और उनके मुंह से निकली गालियां भी हमें क्यूट लगती हैं और जब भी बच्चे ऐसा कुछ बोलते हैं तो सब लोग बहुत हंसते और बार-बार उन्हें ऐसा बोलने के लिए उकसा ते हैं परंतु माता पिता होने के नाते हमें इन सब चीजों को रोकना होगा किधर बच्चा इतनी कम उम्र में गालियां सीखेगा तो कल को जब उसको उसका अर्थ पता लगेगा तो उसका चरित्र भी खराब होगा और बच्चों को यह आदत उसे किसी के घर से कहीं से भी मिल सकती है हमें बच्चे की इस आदत पर जल्द से जल्द समझा कर काबू पाना है

 

 

 

2) फोन की लत

 

 

आज सब लोग फोन पर इतने निर्भर हो चुके हैं कि बच्चों की तो बात क्या करें माता-पिता भी एक सेकेंड के लिए फोन को अपने आप से दूर नहीं रख सकते तू ऐसे में बच्चे के ऊपर यह चेक रखना मुश्किल हो जाता है कि वह फोन पर गेम खेल रहा है पढ़ रहा है या कोई कार्टून देख रहा है इसलिए अपने ऊपर भी आपको लगाम लगानी पड़ेगी और बच्चे के ऊपर भी लगाम लगानी पड़ेगी कि फोन को एक निश्चित अवधि और निश्चित समय के लिए ही इस्तेमाल किया जाए और घर में एक नियम बनाना पड़ेगा की इतने समय के लिए फोन को कोई भी हाथ नहीं लगाएगा

 

3) खाना इकट्ठा ना खाना

 

 

आजकल सब घरों में खाने का वक्त अलग अलग हो गया है कोई भी टेबल पर इकट्ठे बैठकर खाना नहीं खाता है जिस करके हम इकट्ठे बातचीत करने का अवसर खो देते हैं क्योंकि जब हम खाने की टेबल पर बैठते हैं तो हम बच्चों के खाते में हावभाव भी नोट कर सकते हैं उनसे उनके दिनचर्या के बारे में भी खाने की टेबल पर बात कर सकते हैं तो अगर आपने अपने घर में यह नियम नहीं बना रखा तो इस नियम को जरूर बनाएं 

 

 

4) नाखून चबाना

 

 

कई बच्चों को जब स्ट्रेस होने लगता है तो वह अपने नाखून खाना शुरू कर देते हैं और ही आदत मानेगा 10 साल के बच्चे के आसपास शुरू होती है अगर आप अपने बच्चे में ज्यादा देखते हैं तो ध्यान दीजिए कि उसको किस बात का स्ट्रेस हो रहा है और उस प्रेस को दूर करने की कोशिश कीजिए उसके साथ बैठी है उससे बात करिए और नाखून चबाने की समस्या कर एक बार शुरू हो जाती है तो यह 10 से 20 साल की उम्र तक रहती है और नाखून चबाने की आदत को छुड़वाने के लिए पहले तो स्ट्रेस के कारणों को जानिए और फिर नाखूनों पर कोई ना कोई ऐसा लोशन लगा दीजिए ताकि वह मुंह में नाखून चबाने से बचे बच्चे को उसका जो टेस्ट है वह बच्चे को परेशान करें

 

 

 

5)  अंगूठा चूसना या मिट्टी खाना

 

 

कई बार बच्चों के शरीर में मिनरल्स या विटामिन की कमी हो जाती है या कई बार समय पर खाना ना मिलने की वजह से बच्चा अंगूठा चूसना शुरू कर देता है या जमीन से मिट्टी खाना शुरू कर देता है और यह आदत बढ़ते बढ़ते बहुत बढ़ जाती है और इस आदत को छुड़वाना मुश्किल हो जाता है अंगूठा चूसने की आदत को अगर आप करवाना चाहते हैं तो उसके ऊपर कोई पट्टी बांधे जिससे बच्चा अंगूठे को मुंह में डालने से बचें या कोई टेप लगा दे उसमें आपको मेहनत करनी पड़ेगी बच्चा जितनी बार टेप हटाए या पट्टी हटाए उतनी बार आपको उसके ऊपर लगाना पड़ेगा तो बच्चा मुंह में अंगूठा डालने से बचेगा और मिट्टी खाने से बचाने के लिए एक बार उसको डॉक्टर से टेस्ट कराने पड़ेंगे कि यह बच्चा मिट्टी क्यों खा रहा है इसके शरीर में किस चीज की कमी है

 

 

अगर आप भी बच्चों की इन बातों से परेशान हैं तो बच्चों को डांटे नहीं क्योंकि बच्चों को यह नहीं पता होता कि जो वह कर रहे हैं वह बुरी आदते हैं बच्चों को प्यार से बैठ कर उनके पास समझाएं कि यह तरीका गलत है और कहीं स्ट्रिक्टनेस करने की जरूरत भी पढ़े तो care and stick का रूल अपनाएं मतलब एक तरफ से अगर आप डांट रहे हैं तो दूसरी तरफ से प्यार करना भी सीखें

 

5 Good Parenting Tips बढ़ते बच्चों की बुरी आदतों पर कैसे काबू पाए

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *