कैसे करे पैसों की बचत

कैसे करे पैसों की बचत, ये है कुछ शानदार टिप्स

कैसे करे पैसों की बचत, ये है कुछ शानदार टिप्स

आपको अपनी वित्तीय प्लानिंग किस तरह से करनी चाहिए उसके

बारे में मैं कुछ छोटे छोटे टिप्स आपको देने जा रही हूँ अगर आप

इनका इस्तेमाल करेंगे तो आपकी वित्तीय स्थिति कभी भी ख़राब नहीं होगी

 

कैसे करे पैसों की बचत
कैसे करे पैसों की बचत

बचत करने के बाद जो बचे उसे ख़र्च करें

ख़र्च करने के बाद जो बचा है उसे न बचाए

किसी भी वित्तीय प्लानिंग का सबसे बड़ा मूल मंत्र है हम लोग क्या करते हैं

की हम लोग जब हमारे पास महीने के पैसे या सैलेरी आती है तो हम लोग

ख़र्च करने के बाद जो पैसे बचते हैं उनको अपनी investment में डालते हैं

मान लीजिए आपकी महीने की तनख़्वाह बीस हज़ार रूपये है तो उसमें से

2000 पहले से ही सेविंग में डाल दे और ये मान लीजिए कि आपके पास

जो महीने की तनख़्वाह 18000 रुपये ही आई है

असल ज़िंदगी में क्या करते हैं महीने कासारा ख़र्चा करने के  बात जो रुपये

बचते हैं वे हम सेविंग में डालते है जो बिलकुल ग़लत है

दूसरा सबसे बड़ा मूल मंत्र है कि कभी भी पैसे की इन्वेस्टमेंट एक जगह पर ना करें

कई बार जब हम सेविंग करते हैं तो बिना किसी प्लानिंग के करना शुरू कर देते हैं

और जहाँ पे कोई बोलता है हम वहाँ पैसे डाल देते हैं और कई बार सारी सेविंग

एक जगह चली जाती है तो हमें ऐसा नहीं करना है अपनी सेविंग को भिन्न भिन्न

हिस्सों में भिन्न भिन्न जगहों पे लगाएं कुछ ऐसे भी ऐसी जगह पे होनी चाहिए जहाँ

अगर कभी आपको अचानक ज़रूरत आन पड़ी आप एकदम से पैसे निकाल सके

कुछ गोल्ड में होनी चाहिए कुछ प्रॉपर्टी में होनी चाहिए कुछ शेयर मार्केट में होनी

चाहिए शेयर मार्केट में भी इन्वेस्ट कर सकते हैं पर कभी भी किसी एक

म्यूचुअल फंड में सारा पैसा न लगाए है

तीसरा मूल मंत्र है जीवन बीमा पॉलिसी को कभी भी इन्वेस्टमेंट समझने की भूल न करे

अक्सर यहाँ भी लोग बहुत बड़ी गलती करते है कि जीवन बीमा पॉलिसी को

सेविंग की तरह मानने लगते हैं जबकि जीवन बीमा पॉलिसी का उद्देश्य है की

अगर आपको कुछ हो जाए तो आपकी परिवार वाली बीमा से मिलने वाली

धनराशि का फ़ायदा उठा सकें तो जीवन बीमा में भी एक सुनिश्चित रक़म

जानी चाहिए कितनी जानी चाहिए उस पर निर्भर करता है कि हर महीने

कितनी इनकम मिल रही है उसके हिसाब से प्रीमियम डिसाइड होना चाहिए

स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी ज़िंदगी का ज़रूरी हिस्सा

स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी पर भी आपका एक निश्चित जो प्रीमियम है ज़रूरी है

और स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी भी जितनी जल्दी ले ली जाए उतनी ही आपके लिए

अच्छी है क्योंकि जितनी कम उम्र में ही लेंगे उतनी ही आपको सस्ती मिलेगी

और अगर आप ये बीस से लेकर पच्चीस साल की उम्र में ले लेते हैं तो आपका

प्रीमियम बहुत कम होता है

ये किसी भी वित्तीय प्लानिंग करते हुए इन सब चीज़ों का ध्यान रखेंगे तो आपको

भविष्य में कभी भी वित् प्रबंधन में कठिनाई नहीं आएगी और कभी आपातस्थिति

पड़ेगी सब चीज़ों को मैनेज कर पाओगे

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares