पेरेंटिंग दिन 12

क्या करें जब बच्चा घर के कामों में हाथ ना लगाए
बच्चे अक्सर घर के कामों से जी चुराते हैं और उसमें भी कहीं न कहीं माँ बाप ज़िम्मेवार होते हैं क्योंकि कई बार दादा दादी कह देते हैं हमने अपने बच्चों से काम नहीं कराया तो तुझे भी अपनी माँ का काम करने की ज़रूरत नहीं है कई बार बच्चे अपने पिता को देखते हैं कि वो घर पे बैठे बैठे हर चीज़ का ऑर्डर कर रहे हैं तो भी बच्चे काम नहीं करते हैं
कई बार माँ की लड़के और लड़की में भेद करती है ये काम लड़के नहीं करते ही लड़कियाँ करती है कई बार कह देती है कि घर में नौकर है मैं हूँ तो बच्चों तुम्हें काम करने की क्या ज़रूरत है
तो ये ध्यान रखिए कि हमें बच्चों से जो काम कराना है वो हमें घर के कामों में सहयोग के लिए नहीं उन्होंने कहीं हॉस्टल में रहने जाना है कल को उन्होंने उनको अलग रहने की ज़रूरत पड़ जाती है या आप मसलन बीमार हो जाती है तो उनको सहयोग के तौर पर कुछ न कुछ वरना तो आना चाहिए कि वो उस समय काम संभाल पाए और जब हमने कुछ करने की नहीं देंगे तो बच्चा आने वाली परिस्थितियों को कैसे संभालेगा
कई बार हम क्या है सजा के तौर पे काम देते हैं चल चल सफ़ाई का काम किचन में काम कर क्योंकि आज तुझे पढ़ना तो है ही नहीं
हम बच्चे से काम करवाते हैं तो लगातार सलाह देते रहेंगे ध्यान से करना और टूट जाएगा अगर बच्चे को किचन में जाने का शौक़ है तो तू बच्चे को आप काम बताएँ पर पर बार हिदायतें मतलब दे हम बड़ों से भी तो काम करते चीज़ें गिरती है टूटती है तो बच्चे को प्रोत्साहित करिए कभी कभी मेहमान आया होतो बच्चों से पानी मंगवाए उसे डाइनिंग टेबल लगाने के लिए कहेबच्चा कुछ बड़ा हो जाए तो उसे चाय भी बनवा ये और सबके सामने उसकी तारीफ़ भी करे वो बहुत अच्छी चाय बनाता है बनाती है और यक़ीन मानिए आज की तारीख़ में ये सबसे बड़ी ज़रूरत बन गई है और ये कहने से आप बहुत बढ़िया नहीं हो जाएंगे कि मैं अपनी बच्ची से घर का काम नहीं करवाती और एक बार बच्चा हॉस्टल चला जाएगा तो जब उसे अपने लिए कुछ बनाना नहीं आएगा अपना कमरा ठीक ढंग से साफ़ सफ़ाई करना नहीं आएगा मैनेज करना नहीं आएगा अपने कपड़े लगाने नहीं आएँगे तो बच्चा परेशान होगा
बच्चेको घर में ही शुरू से ही ट्रेनिंग देकर भी चाहिए और बच्चे को ये समझाइए की बेटा और बेटी ये ट्रेनिंग जरूरीहै तेरे आने वाले भविष्य के लिए ज़रूरी है
अगर बच्चा हॉस्टल में नहीं जा रहा तोभी घर में कभी कोई ऐसी ज़रूरत आन पड़ती है तो बच्चे को उस समय पे वो चीज़ें संभालने की घर का काम करने की आदत होनी चाहिए

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

shares